15.9 C
New York
Friday, October 22, 2021

Buy now

spot_img

कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा ने जिला स्तरीय कमेटी में उठाया निजी अस्पतालों की लूट का मुद्दा

-मरीज से 1200 रुपये प्रतिदिन खाने और तीन हजार प्रतिदिन पीपीई किट के वसूल रहे हैं अस्पताल
फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ हार्दिक गौतम):
एनआइटी फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा ने निजी अस्पतालों में कोरोना मरीज के इलाज के नाम पर चल रही लूट का मुद्दा जिला स्तरीय सलाहकार समिति में उठाया। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, राज्य सरकार की तरफ से नियुक्त जिला प्रभारी अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल, जिला उपायुक्त यशपाल यादव सहित जिला के अन्य चुने हुए प्रतिनिधि और प्रमुख विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
नीरज शर्मा ने एनआइटी पांच नंबर स्थित डीएम नामक निजी अस्पताल द्वारा एक कोरोना संक्रमित मरीज से चार दिन के इलाज की वसूली राशि का विवरण रखते हुए सवाल खड़ किए। नीरज शर्मा ने डीएम अस्पताल द्वारा मरीज को दिए बिल की प्रति वर्चुअल मीटिंग में रखते हुए बताया कि मरीज से अस्पताल प्रबंधन ने कुल 1,47,675 रुपये वसूले। इसका विवरण देते हुए नीरज ने बताया कि मरीज से आइसीयू बेड के 11 हजार रुपये प्रतिदिन के हिसाब से 44 हजार रुपये, आइसीयू डाक्टर विजिट के 16 हजार रुपये, छाती रोग विशेषज्ञ के 10 हजार रुपये, नर्सिंग स्टाफ के आठ हजार रुपये, देखरेख (मानिटरिंग) के आठ हजार रुपये, मेडिसिन के 35 हजार रुपये, आक्सीजन के 10 हजार रुपये तथा चार दिन के 1200 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से 4800 रुपये खाने के लिए हैं। मेडिसिन के 35 हजार रुपये में 12 हजार रुपये पीपीई किट और एक हजार रुपये दस्ताने के हैं।
नीरज शर्मा ने इस मरीज के बिल में अंकित इन मदों पर सवाल उठाते हुए कहा कि आइसीयू बेड का मतलब क्या है? उन्होंने इस बाबत जिला उपायुक्त को लिखित पत्र लिखकर इसकी जांच की मांग की तथा जिला स्तरीय निगरानी कमेटी से अपील कि निजी अस्पतालों में वसूली गई राशि का आडिट करवाया जाए। शर्मा ने याद दिलाया कि यह मुद्दा वे सबसे पहले 30 अप्रैल को उठा चुके हैं। तब उन्होंने सीएमओ और जिला उपायुक्त को पत्र लिखा था।
उन्होंने कहा कि अभी तक किसी भी निजी अस्पताल ने इलाज शुल्क के बोर्ड नहीं लगवाए हैं। यदि अस्पतालों के पास इसके लिए समय नहीं है तो जिला प्रशासन टीम पंडितजी को अनुमति दे। टीम पंडितजी की तरफ से निशुल्क सभी अस्पतालों के लिए रेट लिस्ट के बोर्ड बनवाकर लगवा दिए जाएंगे। नीरज शर्मा ने छांयसा गांव में खुल रहे मेडिकल कालेज कोविड सेंटर में अस्थायी भर्ती किए जाने वाले स्टाफ की बाबत कहा कि इसमें गैर तकनीकी स्टाफ फरीदाबाद जिला से संबंधित रखा जाना चाहिए।
-बल्लभगढ़-सोहना रोड की खस्ता हाल सड़क का मुद्दा भी उठाया
विधायक नीरज शर्मा ने कहा कि बल्लभगढ़-सोहना रोड पर ही जिला के सर्वाधिक आक्सीजन गैस प्लांट हैं। यह रोड बुरी तरह से कई जगह से टूटी हुई है। ऐसे समय में यदि आक्सीजन गैस के टैंकरों के आवागमन में कोई हादसा न हो इसके लिए तत्काल प्रभाव से सड़क की मरम्मत कराई जाए। इसके अलावा इस रोड से आक्सीजन प्लांट तक जाने वाले रास्ते भी पक्के करवाए जाएं ताकि आक्सीजन लेने वालों को कोई परेशानी न हो। विधायक ने कहा कि सेक्टर-55 में पॉलीक्लीनिक की जो बिल्डिंग है, इसमें भी जल्द से जल्द स्वास्थ्य सुविधाएं शुरू की जाएं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles