13.6 C
New York
Sunday, October 24, 2021

Buy now

spot_img

ग्रीष्मकालीन अवकाश 15 जून तक बढ़ा, हरियाणा में अभी नहीं खुलेंगे स्कूल: कंवरपाल गुर्जर

चंडीगढ़ (नेशनल प्रहरी/ संवाददाता) : हरियाणा सरकार ने कोविड-19 महामारी के चलते मौजूदा हालात को देखते हुए स्कूलों में ग्रीष्म अवकाश 15 जून तक बढ़ाने का निर्णय लिया है। अब विद्यार्थियों की 15 जून तक छुट्टियां रहेंगी जबकि पहली जून से अध्यापकों और अन्य गैर-शैक्षणिक कर्मचारियों को 50 प्रतिशत के अनुपात में स्कूल आना होगा।
हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल ने बताया कि अध्यापकों और अन्य गैर-शैक्षणिक कर्मचारियों की 50 प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए स्कूल के मुखिया द्वारा रोस्टर बनाया जाएगा। इस दौरान स्कूलों का समय प्रात: 9:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक रहेगा। सभी स्कूलों के मुखिया और प्रभारी अपने क्षेत्राधिकार के तहत आने वाले स्कूलों में अध्यापकों और अन्य गैर-शैक्षणिक कर्मचारियों की रोस्टर के अनुसार हाजिरी सुनिश्चित करेंगे। स्कूल आने वाले स्टाफ को कोविड-19 के संबंध में 30 अप्रैल को जारी हिदायतों का पालन करना होगा
गौरतलब है कि इससे पहले 22 अप्रैल को राज्य के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में 31 मई तक ग्रीष्म अवकाश की घोषणा की गई थी।
शिक्षा मंत्री बोले, महामारी नियंत्रित होने के बाद ही शुरू होंगी कक्षाएं: पहली जून से स्कूल खुलने की चर्चाओं पर विराम लगाते हुए शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने साफ कर दिया कि स्कूल खोलकर बच्चों को जोखिम में नहीं डाला जा सकता। लाकडाउन में ढील देकर बाजार खोलने की बात और है तथा स्कूलों को खोलने की और। उन्होंने कहा कि स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में होने के बाद ही स्कूलों को खोलने पर विचार किया जाएगा। फिलहाल सभी सरकारी और निजी स्कूलों में ग्रीष्मकालीन अवकाश 15 जून तक बढ़ा दिया गया है।
शिक्षा मंत्री कंवरपाल ने बताया कि उपस्थिति के दौरान अध्यापकों द्वारा स्कूलों के जरूरी शैक्षणिक और प्रशासनिक कार्य निपटाए जाएंगे। इनमें रिपोर्ट कार्ड का अध्ययन एवं वितरण, परीक्षा परिणाम रजिस्टर संबंधित कार्यों को अपडेट करना, सेक्शन या हाउस का गठन करना, दाखिलों से संबंधित औपचारिकताएं पूरी करना तथा विभाग के एमआईएस पर अपडेट करना, ड्रॉपआउट की होने की आशंका वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों से संपर्क करना और पारस्परिक आदान-प्रदान से पाठ्य-पुस्तकों का वितरण सुनिश्चित करना आदि कार्य शामिल हैं।
छात्र संख्या बढ़ने पर फिर शुरू होंगे पूर्व में बंद किए स्कूल, पोर्टल पर करें आवेदन: वहीं, पूर्व में छात्र संख्या कम होने के कारण दूसरे विद्यालयों में समायोजित किए गए स्कूलों को बच्चे बढ़ने की स्थिति में दोबारा खोला जाएगा। इसके लिए संबंधित ग्राम पंचायत, जन प्रतिनिधि और ग्रामीण शिक्षा विभाग के पोर्टल http://14.192.19.188/School request पर आवेदन कर सकते हैं। हरियाणा प्राइमरी टीचर एसोसिएशन के प्रदेश प्रधान हरीओम राठी व प्रदेश कोषाध्यक्ष चतर सिंह ने बंद किए गए स्कूलों को दोबारा खोलने के फैसले का स्वागत किया है।
उन्होंने तमाम प्राथमिक शिक्षकों का आह्वान किया कि वे प्रदेश के सभी विद्यालयों में अधिक से अधिक बच्चों का नामांकन कराने के अभियान में जुट जाएं। ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत सदस्यों, स्कूल प्रबंधन कमेटी के सदस्यों, ग्राम सभा व शहरी क्षेत्रों में पार्षदों, जन प्रतिनिधियों व एसएमसी सदस्यों की मदद ली जा सकती है।
पति सरकारी सेवा में हो तो महिला शिक्षकाें को तबादलों में मिलेगा लाभ: सरकारी स्कूलों में कार्यरत नियमित महिला अध्यापकों को पति के सरकारी कर्मचारी होने पर आनलाइन तबादलों में अतिरिक्त अंकों का लाभ मिलेगा। अगर महिला अध्यापक का पति किसी राज्य सरकार या केंद्र सरकार के किसी विभाग, निगम या बोर्ड में कार्यरत है तो उसे आनलाइन तबादलों के दौरान पांच अंकों का लाभ दिया जाएगा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles