2.5 C
New York
Saturday, December 4, 2021

Buy now

spot_img

छात्रों की सुरक्षा पुख्ता करने के लिए तीन स्तरीय कमेटी गठित: स्कूल भवन की जांच और छात्रों की करेगी काउंसिलिग

फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह ) : राजकीय विद्यालय सराय ख्वाजा विद्यालय में एक छात्र के छत से कूदकर आत्महत्या करने के मामले के बाद शिक्षा निदेशालय ने आवश्यक कदम उठाने शुरू कर दिए हैं, ताकि भविष्य में फिर कोई ऐसी घटना न हो। इसके तहत छात्रों की सुरक्षा पुख्ता करने के तीन स्तरीय कमेटी बनाने का फैसला किया गया है। कमेटी जिला, खंड एवं स्कूल स्तर पर काम करेगी। इस संबंध में शिक्षा निदेशालय ने प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। यह कमेटी सुरक्षा के मानकों को पूरा कराने के साथ छात्रों की काउंसिलिग भी करेगी।
16 मार्च को फरीदाबाद के सराय ख्वाजा में हुई थी घटना:16 मार्च को राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 11वीं कक्षा के छात्र की दूसरी मंजिल से कूदने से मृत्यु हो गई थी। इसके बाद शिक्षा विभाग की स्कूल भवन निर्माण शाखा के अधिकारियों ने स्कूल का निरीक्षण किया था। इस दौरान पाया गया था कि स्कूल के विभिन्न हिस्सों में कई ऐसे स्थान पाए गए थे, जहां से बच्चे आत्महत्या कर सकते हैं। उस समय आनन फानन में उन जगहों की चहारदीवारी या अन्य उपकरणों से बंद कर दिया गया था। ऐसा हादसा दोबारा और किसी अन्य स्कूल में भी न हो, इसके लिए स्कूल स्तर, खंड एवं जिला स्तर पर कमेटी बनाने के निर्देश दिए गए हैं। यह कमेटी समय-समय पर स्कूलों का निरीक्षण करेगी और अपनी रिपोर्ट बनाकर उच्च अधिकारियों को सौंपेगी है।
जिला स्तरीय कमेटी: जिला स्तरीय कमेटी में पुलिस आयुक्त, उपायुक्त या पुलिस अधीक्षक स्तर का एक अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, संयुक्त आयुक्त नगर निगम, बीएंडआर का कार्यकारी अभियंता, आरटीए सचिव, डीटीपी, उपायुक्त द्वारा मनोनीत निजी स्कूल का प्रतिनिधि, बाल मनोचिकित्सक व मौलिक एवं जिला शिक्षा अधिकारी रहेंगे। यह कमेटी समय-समय पर स्कूल भवन की जांच करेगी और छात्रों की काउंसिलिग करेंगी।
खंड स्तरीय कमेटी: सहायक पुलिस आयुक्त, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी, आरटीए का प्रतिनिधि, एसडीएम द्वारा मनोनीत निजी विद्यालय का प्रतिनिधि, पैरेंट्स एसोसिएशन का प्रतिनिधि शामिल होंगे। यह अपनी जांच रिपोर्ट जिला स्तरीय कमेटी को सौंपेंगे।
स्कूल स्तरीय कमेटी: शारीरिक शिक्षा के अध्यापक, स्कूल संयोजक और स्कूल सुरक्षा अधिकारी शामिल होगा। यह कमेटी छात्र की प्रत्येक गतिविधि पर निगरानी रखेगी। इसके अलावा छात्रों के लिए काउंसिलिग कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
वर्जन : यह कमेटी पहले से ही कार्य करती रही है। इसके अलावा जिन विद्यालयों में यह कमेटी नहीं है, उन्हें बनाने के निर्देश दिए हैं। यह कमेटी स्कूल सुरक्षा संबंधी निरीक्षण के अलावा स्कूल बसों का भी निरीक्षण करेगी। -रितु चौधरी, जिला शिक्षा अधिकारी

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles