16.6 C
New York
Saturday, October 23, 2021

Buy now

spot_img

निकिता हत्याकांड: तौशीफ और रेहान दोषी करार, अजरू बरी, 26 मार्च को होगी सजा पर बहस

फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह ) : हरियाणा के फरीदाबाद में चर्चित निकिता तोमर हत्याकांड में बुधवार को कोर्ट ने तौशीफ़ और रेहान दोषी क़रार दिया। वहीं, अजरू को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया है। अब सजा पर 26 मार्च को बहस होगी। यह मामला अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सरताज बासवाना की फास्ट ट्रैक कोर्ट में चल रहा था। निकिता तोमर पक्ष के अधिवक्ता ऐदल सिंह ने बताया कि इस मामले में कुल 57 गवाहों की गवाही हो चुकी है। बचाव पक्ष की ओर से वकील अनवर खान, अनीस खान, पीएल गोयल ने आरोपितों के बचाव में विभिन्न पक्ष रखे। 26 मार्च को इस मामले को पूरे पांच माह हो जाएंगे। हत्याकांड के 11 दिन बाद पुलिस ने अदालत में चार्जशीट दायर कर दी थी।
बीकॉम ऑनर्स की छात्रा निकिता की 26 अक्टूबर-2020 को अग्रवाल कॉलेज के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या की साजिश का आरोप सोहना निवासी तौशीफ, नूंह निवासी रेयान और अजरू पर है। तीनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इस घटना के बाद काफी हंगामा हुआ था। यह मामला फास्ट ट्रैक अदालत में चलाने की मांग उठी थी, जिसे सरकार ने स्वीकार कर लिया था।
मिर्जापुर-2 वेबसीरीज से प्रभावित है आरोपित तौशीफ: जांच के दौरान फरीदाबाद पुलिस क्राइम ब्रांच को आरोपित से पूछताछ में पता चला है कि हाल में रिलीज हुई मिर्जापुर-2 वेबसीरीज देखकर वह बेहद प्रभावित हुआ। इस वेबसीरीज का खलनायक मुन्ना अपनी प्रेमिका की गोली मारकर हत्या कर देता है। आरोपित ने बताया है कि निकिता को लेकर उसकी समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करे। यह वेबसीरीज देखने के बाद उसने ठान लिया कि अब या तो निकिता उसके साथ रहेगी या वह उसकी हत्या कर देगा। इसके बाद ही उसने वारदात को अंजाम दिया।
फैसला सुनकर दोषियों के चेहरे पर दौड़ गई चिंता की लकीर: अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सरताज बासवाना की अदालत ने जैसे ही तौशीफ और रेहान को दोषी करार दिया, उनके चेहरे का रंग बदल गया और चिंता की लकीरें खिच गईं। शाम ठीक चार बजकर 12 मिनट पर तौशीफ, रेहान और अजरू को भारी सुरक्षा के बीच अदालत में पेश किया गया। पेश किए जाने के दौरान तौशीफ और रेहान सामान्य बने हुए थे। वहीं अजरू अदालत में चक्कर खाकर गिर पड़ा। पुलिसकर्मियों ने उसे संभाला। अदालत ने फैसला सुनाते हुए जैसे ही कहा कि अजरू बरी तो वह एकदम चुस्त हो गया। इससे तौशीफ और रेहान को भी उम्मीद बंधी। मगर अदालत ने दोनों को दोषी करार दिया। इससे दोनों गहन चिता में नजर आए। पूरे समय दोनों मास्क लगाए रहे। अदालत ने महज 10 मिनट में फैसला सुनाकर सजा के लिए 26 मार्च की तारीख तय कर दी।
अदालत में दिनभर रही गहमागहमी: निकिता तोमर हत्याकांड देशभर में चर्चित हुआ था। बुधवार को मुकदमे का फैसला होना था तो पूरा दिन अदालत में गहमागहमी रही। सुबह 11 बजे ही अदालत परिसर में अतिरिक्त पुलिसबल तैनात कर दिया गया। लोगों को जांच के बाद ही अदालत परिसर में प्रवेश दिया गया। वकीलों के बीच भी दिनभर इस मामले को लेकर चर्चा रही। शाम को चार बजकर 12 मिनट पर जब सुनवाई शुरू हुई तो अदालत कक्ष के बाहर बरामदा वकीलों, मीडियाकर्मियों और पुलिस से खचाखच भर गया। सभी मामले का फैसला सुनने के लिए उत्सुक रहे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles