15.1 C
New York
Sunday, October 24, 2021

Buy now

spot_img

पहलवान के लिए प्रतिदिन अभ्यास करना जरूरी : ओम कालीरमण

फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह ): मशहूर कुश्ती खिलाड़ी व माडल ओम कालीरमण शुक्रवार को अपनी बहन मोनिका कालीरमण के साथ सी. दास ग्रुप के रेडियो महारानी में आए थे। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि उन्होंने कुश्ती छोड़ी है, लेकिन आज भी उतना लगाव है, जितना माडलिग में आने से पहले था। उन्होंने बताया कि कोरोना के कारण कुश्ती खिलाड़ियों का प्रशिक्षण काफी प्रभावित हुआ था, लेकिन अब परिस्थितियां पहले की तरह सामान्य हो रही है। उन्होंने उम्मीद जताई कि ओलंपिक में भारतीय खिलाड़ी कुश्ती में पदक जरूर लेकर आएंगे।
इस दौरान सी. दास ग्रुप के चेयरमैन बीआर भाटिया व निदेशक विपिन भाटिया ने उनका स्वागत किया। ओम ने कहा कि पहलवान के लिए प्रतिदिन का अभ्यास आवश्यक है। यदि एक दिन भी अभ्यास नहीं करता है, तो वह अपने साथियों से एक सप्ताह पिछड़ जाता है। कोरोना के बाद खिलाड़ियों की प्रैक्टिस और डाइट में भी काफी बदलाव आया है।
बता दें कि ओम कालीरमण मशहूर पहलवान पदमश्री चंदगी राम के पुत्र हैं और उनके नाम से दिल्ली मशहूर अखाड़ा है। उन्होंने बताया कि उनके घर में शुरू से पहलवानी का वातावरण रहा है। ऐसे में उनका पहलवान बनना भी लाजिमी था, मगर कुछ साल पहले घुटने में चोट लगने के कारण उन्होंने खेलना छोड़ दिया।
वर्ष 2013 मे की थी शुरुआत: ओम कालीरमण ने बताया कि चोट लगने के बाद उन्होंने ग्लैमर की दुनिया में कदम रखने की ठानी। वर्ष 2013 में मिस्टर इंडिया व‌र्ल्ड में रनरअप रहने के बाद उन्होंने माडलिग शुरू की। माडलिग के साथ ही ओम ने अपनी पिता की विरासत कुश्ती को भी संभाले रखा है और वहां पर पहलवानों के ठहरने एवं खाने पीने के उचित इंतजाम किए गए हैं।
इस दौरान भाटिया सेवक समाज के प्रधान मोहन सिंह भाटिया, रेडियो महारानी की वरिष्ठ प्रबंधक सपना सूरी, वरिष्ठ सलाहाकार आलोक अरोड़ा, प्रबंधक अमित भाटिया सहित कई लोग मौजूद थे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles