15.9 C
New York
Friday, October 22, 2021

Buy now

spot_img

प्रशासन पाबंदी लगाने की कोशिश न करे, 21 मार्च को किसान करेंगे दुष्यंत चौटाला का पुरूजोर विरोध: जगन डागर

52 पाल की किसान संघर्ष समिति ने की पंचायत दुष्यंत चौटाला का होगा विरोध
फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह ):
मंगलवार को किसान संघर्ष समिति के बनैर तले गांव मोहना की सरजमी पर उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के फरीदाबाद आगमन के विरोध में महापंचायत का आयोजन किया गया । महापंचायत में 22 गांवों के मौजिज ग्रामीणों ने एक स्वर में आगामी 21 मार्च को गांव नरियाला में आयोजित होली मिलन समारोह में भाग लेने आ रहे उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का विरोध करने का फैसला लिया गया। दुष्यंत चौटाला को किसान काले झंडे दिखा कर अपना विरोध दर्ज कराएँगे। यदि सरकार ने विरोध को दबाने कोशिश की तो किसान उसका डट कर मुकाबला करेगा। महापंचायत की अध्यक्षता किसान संघर्ष समिति के नेता जयनारायण की।
महापंचायत को सम्बोधित करते हुए वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं पूर्व पार्षद जगन डागर ने कहा कि आज जब किसान अपने हक़ की लड़ाई के लिए सडक़ों पर बैठ कर अपना विरोध जता रहा है ऐसे समय में दुष्यंत चौटाला किसानों के जख्म पर मरहम लगाने की बजाए भाजपा सरकार की गोद में बैठ कर किसानों के जले पर नमक छिडक़ने का काम कर रहे हैं। फरीदाबाद और पलवल के किसान पिछले कई महीने से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर धरने पर बैठे हैं। लेकिन उपमुख्यमंत्री उनसे बात करने की कोशिश नहीं की।
देश प्रदेश का किसान अपने भविष्य को लेकर चिंता में है ऐसे में दुष्यंत चौटाला का होली मनाने आना किसानों के दुखों को बढ़ाने जैसा है। इसलिए उनका फरीदाबाद पहुंचने पर जोरदार विरोध किया जायेगा। जगन डागर ने कहा कि इस बार उनको यदि नजर बंद या हाउस अरेस्ट करने की कोशिश की गई तो उसके डट कर विरोध किया जाएगा। लोकतंत्र मे सरकार की किसी भी नीति का शांतिपूर्ण विरोध करना कोई अपराध नही है। इसलिए प्रशासन उन पर किसी भी तरह की पाबंदी लगाने की कोशिश न करे।
इस मौके पर डागर पाल के प्रधान धर्मवीर मिडंकौला,ज्ञान सिंह चौहान, महेन्द्र सिंह चौहान, जाजरू के सरपंच नत्थी, किशन गांव बलई, शीश राम, देश राज, गांव दयालपुर से पवन, मनीष हुडडा, गांव मोहना से सीताराम, पप्पू सरपंच, नंदलाल, ईश्वर नम्बरदार, घोड़ी से रमेश, सुरेश, रूपलाल, जवां से मेहता, अशोक, पलवल से सविता चौधरी, नरियाला से अनिल, रूपचंद खेड़ीकलां फूल सिह, अमरपुर राकेश, अशोक, जल्हाका शीशपाल, बागपुर समसूददीन, सोलडा राजू, शहजाद, साबू, पेलक यादराम, रमेश, जगदेव, सोहनपाल अरोहां, महेन्द्र सिंह चौहान औरंगाबाद, धर्म सिंह घूघेरा, ज्ञान सिंह मितरौल सहित दर्जनों ग्रामीण उपस्थित थे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles