5.7 C
New York
Friday, November 26, 2021

Buy now

spot_img

फरीदाबाद का नहर पार क्षेत्र अब होगा ग्रेटर फरीदाबाद : मनोहर लाल

एफएमडीए की पहली मीटिंग में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की घोषणा
जिला का पूरा 741 स्क्वायर किलोमीटर शहरी व सभी ग्रामीण क्षेत्र अब एफएमडीए के अंतर्गत
30 मीटर से उपर की सभी सडक़ें, 600 एमएम से उपर के सभी सीवर, दो टाउन पार्क सहित कई परियोजनाएं भी सौंपी जाएंगी
फरीदाबाद शहर को सीधा केजीपी से जोड़ा जाएगा
एफएमडीए के तीन गैर सरकारी सदस्य डॉ.एस.एस.बंसल, अमित भल्ला और बी.आर.भाटिया नियुक्त
फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह ) :
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि फरीदाबाद का नहरपार क्षेत्र अब ग्रेटर फरीदाबाद के नाम से जाना जाएगा। इस क्षेत्र में विकास को लेकर कोई कमी नहीं छोड़ी जाएगी।
तीन हिस्सों में बसे शहर को ग्रेटर फरीदाबाद से जोडऩे के लिए कुछ बड़ी परियोजनाएं भी जल्द शुरू की जाएंगी। इसके साथ ही फरीदाबाद जिला की 741 स्क्वायर किलोमीटर लंबी पूरी सीमा जिसमें ग्रामीण व शहरी क्षेत्र शामिल हैं सभी को एफएमडीए में शामिल किया गया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल शनिवार को लघु सचिवालय के छठे तल स्थित कांफ्रेंस हॉल में फरीदाबाद महानगर विकास प्राधिकरण (एफएमडीए) की पहली मीटिंग में संबोधित कर रहे थे। इसके बाद उन्होंने अरावली गोल्फ क्लब में पत्रकार वार्ता को भी संबोधित किया।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि फरीदाबाद शहर में पहले एचएसवीपी, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी, स्मार्ट सिटी जैसी कई संस्थाएं विकास कार्य करवाती थी। इन सभी संस्थाओं के कार्य के दौरान तालमेल की कमी रहती थी। अब सभी विकास कार्य एफएमडीए के अंतर्गत आएंगे और कार्यों में तालमेल के लिए एक इंटीग्रेटिड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर भी तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जनसंख्या व क्षेत्र के मामले में फरीदाबाद जिला गुरुग्राम से बहुत बड़ा है। गुरुग्राम में 115 सेक्टर हैं, जबकि फरीदाबाद में 179 सेक्टर विकसित हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि कुछ भौगोलिक कारणों से फरीदाबाद जिला विकास में पिछड़ा है लेकिन अब इसे हम गुरुग्राम से भी आगे लेकर जाएंगे। उन्होंने कहा कि एफएमडीए के गठन के बाद नई व्यवस्थाएं बनेंगी और भ्रष्टाचार कम होगा। उन्होंने कहा कि अब हमें मुख्य परियोजनाओं को एफएमडीए को सौंपना है। उन्होंने बताया कि पूरे फरीदाबाद जिला में 1700 किलोमीटर का सडक़ नेटवर्क है जिसमें से एचएसवीपी, एचएसआईआईडीसी व एमसीएफ की 182 किलोमीटर सडक़ें एफएमडीए में शामिल की जाएँगी। साथ ही उन्होंने कहा की फरीदाबाद शहर को सीधा केजीपी से जोड़ा जाएगा इसके लिए एनएचएआई को एक विस्तृत कार्य योजना तैयार कर जल्द सौंपी जाएगी उन्होंने कहा कि अब भविष्य में नई सडक़ परियोजनाओं का निर्माण भी एफएमडीए ही करेगा।
मीटिंग में उन्होंने बताया कि नगर निगम के 16 रैनीवैल व एचएसवीपी के 8 रैनीवैल सहित कुल 22 रैनीवैल अब एफएमडीए को ट्रांसफर हो जाएंगे। इसके साथ ही 396 किलोमीटर लंबी पेयजल पाईपलाईन को भी एफएमडीए टेकओवर करेगा। उन्होंने बताया कि 600 एमएम से उपर की सभी सीवर लाईनों का कार्य अब एफएमडीए देखेगा जिसकी लंबाई 202 किलोमीटर है। इसके साथ ही सभी एसटीपी व सीटीपी भी एफएमडीए ही टेकओवर करेगा। शहर में संचार व्यवस्था को लेकर भी एफएमडीए एक नया नेटवर्क तैयार करेगा।
शहर के सेक्टर-16ए में स्थित एचएसवीपी के गेस्ट हाउस, सेक्टर-12 कन्वेशन सेंटर, टाउन पार्क सेक्टर-31 व 12, सेक्टर-31 स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स सहित कई इमारतें भी एफएमडीए को सौंपी जाएंगी। उन्होंने बताया कि पहले साल में कुशल तकनीकी स्टाफ की कमी को नगर निगम व एचएसवीपी से लेकर पूरा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि एफएमडीए के संचालन के लिए शुरूआती वर्ष में 105 करोड़ रुपये की आवश्यकता होगी और जरूरी हुई तो सरकार और भी पैसा भी देगी।
उन्होंने बताया कि अर्बन लोकल बॉडी को मिलने वाली दो प्रतिशत स्टांप ड्यूटी में से एक प्रतिशत अब एफएमडीए के पास जाएगी। एफएमडीए के सभी कार्य पेपरलैस होंगे। उन्होंने बताया कि अभी जीएमडीए के साथ मिलकर फरीदाबाद में सिटी बस सर्विस शुरू की गई है। जल्द ही 20 बसें गुरुग्राम से मंगवालकर और चलाई जाएंगी। मांग बढऩे पर कुछ और बसे एफएमडीए भी खरीद सकता है। उन्होंने बताया कि एफएमडीए के कार्यालय के लिए फिलहाल आईएमटी स्थित एचएसआईआईडीसी कार्यालय का एक तल किराए पर लिया जाएगा। मीटिंग में शहर को लेकर विजन डॉक्यूमेंट 2041 भी प्रस्तुत किया गया।
उन्होंने एफएमडीए के तीन गैर सरकारी सदस्यों डॉ.एस.एस.बंसल, अमित भल्ला और बी.आर. भाटिया को नियुक्त किया गया है, और तीन सदस्यों को बाद में नियुक्त किया जाएगा। मीटिंग में एफएमडीए के सीईओ सुधीर राजपाल ने एफएमडीए का विजन डॉक्यूमेंट प्रस्तुत किया।
इस अवसर पर केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, फरीदाबाद के विधायक नरेंद्र गुप्ता, तिगांव के विधायक राजेश नागर, बडख़ल की विधायक सीमा त्रिखा, पृथला के विधायक नयनपाल रावत, एनआईटी के विधायक नीरज शर्मा, मेयर सुमन बाला, भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव अजय गौड़, मीडिया सलाहकार अमित आर्य, कमिश्नर संजय जून, पुलिस आयुक्त ओपी सिंह, उपायुक्त यशपाल, एफएमडीए की डिप्टी सीईओ गरिमा मित्तल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles