7.1 C
New York
Monday, December 6, 2021

Buy now

spot_img

मीठे जल की छबील लगाकर लोगों को पिलाया मीठा पानी, हिंदू पंचांग में निर्जला एकादशी सबसे महत्वपूर्ण: वासदेव अरोड़ा

फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह ): दान-पुण्य का दिन निर्जला एकादशी सोमवार को सुबह से औद्योगिक नगरी फरीदाबाद की धरा में मनाया गया। विभिन्न सामाजिक संगठनों ने मीठे जल की प्याऊ लगाकर राहगीरों को राहत दी और जलदान का पुण्य भी अर्जित किया। शहर से लेकर देहात क्षेत्र तक शरबत और जल की प्याऊ सामाजिक संगठनों द्वारा लगाई गई।
इसी के तहत सेक्टर 7 में पंजाबी फेडरेशन के अध्यक्ष एवं सात-दस मार्केट के प्रधान वासदेव अरोड़ा, बृजेश चौधरी, नरेश भटेजा, पवन अरोड़ा, हेमंत अरोड़ा, नीरज, कमल, विकास आहूजा व अमित की टीम ने राहगीरों को मीठा शरबत राहगीरों को पिलाकर पुण्य के भागी बने।
इस मौके पर वासदेव अरोड़ा ने कहा कि ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को निर्जला एकादशी के रूप में मनाया जाता है। ने बताया कि हिंदू पंचांग की 24 एकादशियों में निर्जला सबसे महत्वपूर्ण है। इस एकादशी का व्रत रखने से सालभर की 24 एकादशियों के व्रत का फल मिल जाता है। घरों और मंदिरों में भगवान को नये वस्त्र धारण कराकर खीर का भोग लगाया गया। सुबह से ही बाजारों में सुराही, मटके और पंखों के साथ खरबूज-तरबूज की जमकर बिक्री हुई। मान्यता के अनुसार निर्जला एकादशी पर जल और फल दान का विशेष महत्व है। गर्मी और प्यास को कम करने वाली वस्तुएं इस दिन दान की जाती हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles