7.9 C
New York
Monday, December 6, 2021

Buy now

spot_img

वसुन्धरा स्थित ”ध्यान कक्ष” हरियाणा पर्यटन द्वारा फरीदाबाद के दर्शनीय स्थलों में शामिल

फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह ) : हरियाणा सरकार के पर्यटन विभाग द्वारा गाँव भोपनी-लालपुर रोड, ग्रेटर फरीदाबाद में सतयुग दर्शन ट्रस्ट के वसुन्धरा परिसर में स्थित ”ध्यान कक्ष” को फरीदाबाद के दर्शनीय स्थलों में शामिल कर लिया गया है इस आशय हेतु हरियाणा पर्यटन की वेबसाइट https://haryanatourism.gov.in/ में इसे दर्शाया गया है ”ध्यान कक्ष” के अतिरिक्त फरीदाबाद के अन्य दर्शनीय स्थलों में आनंदपुर बांध,अरावली गोल्फ कोर्स, जिमखाना क्लब, मुगलब्रिज, नाहरसिंह क्रिकेट स्टेडियम, नाहरसिंह पैलेस, राजहंस कन्वेंशन सेंटर, रोजगार्डन और सूरजकुंड शामिल है
सतयुग दर्शन ट्रस्ट, फरीदाबाद द्वारा वसुन्धरा परिसर के लगभग 10 एकड क्षेत्र में स्थापित ”ध्यान कक्ष” जो कि समभाव-समदृष्टि के स्कूल के नाम से जाना जाता है, अपने आप में स्थापत्य कला की अद्विाीय मिसाल है। श्वेतमार्बल और लाइमस्टोन से बने दोहरे गुमबदाकार के इस ध्यान-कक्ष का शुभ प्रारमभ 26 जनवरी 2014 को किया गया था । गुमबद के अंदरूनी छतों को स्वर्ण पत्तरों से सजाया गया है । यह चारों ओर से सुन्दर वाटरबॉडी और लॉन से घिरा है । ध्यान-कक्ष में प्रवेश से पूर्व निर्मित सात द्वारों, जोकि क्रमश: संतोष, धैर्य, सच्चाई, धर्म, सम, निष्काम व परोपकार के प्रतीक हैं,के मध्य से होकर आना होता है। यहाँ से अब ध्यान के माध्यम से आंतरिक आयामों के विज्ञान की शिक्षा दी जाती है। यह ध्यान-कक्ष सतयुग की पहचान व मानवता का स्वाभिमान के रूप में स्थापित किया गया है।
”ध्यान कक्ष” में इस लौकिक जगत में विचरते समय मानसिक रूप से अपने मूल धर्म पर सत्यनिष्ठा से समरस बने रहने के लिए उन्हें, अंतर्निहित अलौकिक ज्ञान शक्तियों व गुणों से भी परिचित कराया जाता है। ताकि सांसारिक कठिन परिस्थितियों में उनका आत्मिक बल किसी विध् कमजोर न पडे और वह आत्मवि श्वास के साथ आत्मा और परमात्मा की शाश्वतता, शाश्वत जीवन और शाश्वत मूल्यों में विश्वास रखते हुए आत्मनिर्भर होकर एक सजन पुरुष बन जाएं।
इसे देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते है । यहाँ कई प्रकार के सांस्कृतिक और रंगारंग कार्यक्रम भी समय-समय पर आयोजित किये जाते हैं । प्रति वर्ष राम नवमी पर हजारों की संख्या में श्रद्धालु यहाँ आते है । इसके अतिरिक्त ”मानवता ओलिंपियाड” जिसमें कि 3000000 से अधिक विद्यालओं से लाखों की संख्या में छात्र-छात्राएं भाग लेते हैं का समापन प्रति वर्षसात सितमबर को यहाँ के विशाल सभागार में किया जाता है ।
”ध्यान कक्ष” परिसर मे दर्शकों के लिए एंट्री नि:शुल्क है और यहाँ कैेफटेरिया, भोजनालय, पार्किंग आदि की सुविधा उपलब्ध है । भारत के पूर्व राष्ट्रपति डा. अबदुल कलाम आजाद, हरियाणा के पूर्व गवर्नर कप्तान सिंह सोलंकी, पूर्व राजनयिक डा. कर्ण सिंह सहित कई प्रमुख हस्तियाँ यहाँ आ चुकी हैं ।
”ध्यान कक्ष” को फरीदाबाद के दर्शनीय स्थलों में शामिल करने से आस-पास के ग्रामीणों ने भी हर्ष जताया है कि अब इस क्षेत्र में दर्शकों के आने से क्षेत्र का और अधिक विकास होगा और रोजगार के नए अवसर खुलेंगे ।
सतयुग दर्शन ट्रस्ट के प्रवक्ता ने बताया कि कोरोना नियमावली के चलते अभी ”ध्यान कक्ष” में दर्शकों का प्रवेश नियंत्रित है और राज्य सरकार के नियमानुसार इसे शीघ्र ही दर्शकों के लिए पुन: खोला जाएगा ।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles