7.1 C
New York
Monday, December 6, 2021

Buy now

spot_img

वार्ड नम्बर-18 मामला: क्या पेयजल आपूर्ति दुरुस्त न रखने वाले लापरवाह अधिकारियो पर निगम कार्यवाही करेगा?

फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह ) : फरीदाबाद नगर निगम के सभी 40 वार्डों में वैसे तो लोगों को पेयजल आपूर्ति जैसी व्यवस्था को दुरुस्त रखने के उद्देश्य से अलग-अलग वार्ड वाइज एसडीओ तथा जेई नियुक्त किए हुए हैं लेकिन जो इस तरफ बिल्कुल भी ध्यान नहीं देते क्या उनके खिलाफ प्रशासनिक कार्यवाही नहीं होनी चाहिए। ऐसी ही लापरवाही का मामला वार्ड नंबर -18 के एसडीओ व जेई द्वारा यहां सेक्टर-18ए स्थित अपने वार्ड कार्यालय में आजकल देखने को मिल रहा है ।
इस गांव में वैसे तो फरीदाबाद नगर निगम की ओर से लोगों की पेयजल आपूर्ति के लिए लगभग एक दर्जन ट्यूबवेल लगाए हुए हैं लेकिन इनका संचालन बहुत ही अव्यवस्थित और गैर जिम्मेदाराना तरीके से किया जा रहा है ।
अव्यवस्थित और गैर जिम्मेदाराना तरीके से पेयजल आपूर्ति: कुछ घरों में तो आसानी से पानी आ रहा है और लोग पानी को व्यर्थ में बहा रहे हैं भैंसों को नहा रहे है और गाड़ियों को धो रहे हैं घर आंगन को धो रहे हैं और नालियों में पानी व्यर्थ बहा रहे हैं लेकिन कुछ घर ऐसे हैं जिनमें एक बूंद भी पानी नहीं पहुंच रहा है।
परेशानी का कारण एसडीओ व जेई का ढुलमुल रवैया: इस संबंध में जब संबंधित वार्ड नंबर 18 के जेई और एसडीओ से संपर्क किया जाता है तो वे पलंबररों की टीम भेज देते हैं जो कि कोई समाधान किए बिना ही यहां से वापिस लौट जाते हैं जहां तक सरकारी स्कूल में लगाई हुई ट्यूबवेल का मामला है तो इससे आगे लगभग 25 घरों तक पानी जाना चाहिए लेकिन यह 10 घरों तक ही सिमट जाता है और आगे के 15 घर बहुत ही परेशानी झेल रहे हैं।
कितने घर हो रहे प्रभावित : परेशानी झेलने वाले लोगों में रतीराम,मलखान, सतीश, फिरेपाल, जगत सिंह, गोपी राम, रोहतास, जगत सिंह, तेज सिंह, तिलक बिधूड़ी, ब्रह्मप्रकाश ठेकेदार, रामकुमार पहलवान, फूलसिंह एडवोकेट, राजू पहलवान, पवन, कल्याण सिंह, रविंद्र, बिल्लू, सुधीर, बाबूराम आदि शामिल है। जो कि रोजाना 700-700 रूपये का निजी वाटर टैंकर अपने अपने घरों में खरीद कर मंगवाते हैं और टंकी व अन्य बर्तनों में पानी भर कर रखते हैं इस तरफ फरीदाबाद नगर निगम के उच्चाधिकारियों का कोई ध्यान नहीं जा रहा है जो कि बहुत ही गैर जिम्मेदाराना व अन्यायपूर्ण बात है।
ये अधिकारी हैं दोषी : इस संबंध में जब प्रभावित लोग अपने सम्बंधित वार्ड नम्बर-18 के एसडीओ अनिल कुमार व जेई कुशल यादव से मिलते हैं तो ये अधिकारी उनको टरका कर वापस भेज देते हैं और उनकी समस्या का समाधान किसी भी तरह से निकालने को तैयार नहीं है। ना ही अपने पलंबर अमले को किसी प्रकार का ठोस निर्देश देते हैं कि नजदीकी ट्यूबवैल से इन लोगों को दी जाने वाली पेयजल आपूर्ति दुरुस्त की जाए।
लापरवाही का यह सिलसिला इस साल के शुरू से ही जनवरी के महिने से चल रहा है। एसडीओ व जेई इन दोनो अधिकारियो पर नगर निगम प्रशाशन या निगमायुक्त भी नकेल डालने मे नाकाम साबित हो रहे हैं और प्रभावित लोग बूंद बूंद पानी को तरस रहे हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles