2.1 C
New York
Wednesday, December 8, 2021

Buy now

spot_img

संविधान को लागू करना बाबा साहेब को सच्ची श्रृद्धांजलि : डॉ. श्यामलाल

फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह ) : बहुजन समाज पार्टी जिला इकाई के तत्वाधान में भारतीय संविधान के निमार्ता, भारतरत्न, गरीब, मजदूर और महिलाओं के मसीहा बाबा साहेब डॉ. बी. आर. अम्बेडकर के 65वें महापरिर्निवाण दिवस पर जिला कार्यालय में श्रृद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।
इस मौके पर बसपा प्रदेश महासचिव डॉ. श्यामलाल बतौर मुख्यअतिथि मौजूद रहे, जबकि जिला अध्यक्ष मनोज चौधरी, लोकसभा प्रभारी स.उपकार सिंह, पूर्व जिला अध्यक्ष चेतनदास, जिला महासचिव अशोक शास्त्री, रमेश भारती, राजपाल बौद्ध, महावीर सिंह, कर्ण सिंह, सतीश कुमार, हंसराज, राशिद अंसारी एवं विपुल गौतम, प्रेम सिंह राहत ने श्रृद्धांजलि दी।
इस अवसर पर डॉ. श्यामलाल ने कहा 6 दिसम्बर 1956 में बाबा साहेब इस दुनियां से चले गए थे, मगर आज भी यह जांच का विषय है कि उनका निधन हुआ था, या हत्या की गई थी। उस समय की कांग्रेस सरकार और वर्तमान भाजपा सरकार ने बाबा साहेब की मौत का राज आज तक उजागर नहीं किया है। उन्होने कहा देश पर राज करने वाली कांग्रेस और भाजपा सहित अब तक की सभी सरकारों ने संविधान के अनुरूप शासन नहीं किया। यदि देश का संविधान पूरी तरह लागू होता तो आरक्षण के तहत मिलने वाली नौकरियों के पद अब तक रिक्त नहीं होते। देश में गरीबी और बेरोजगारी नहीं होती। उन्होने कहा आज बाबा साहेब के महापरिर्निवाण दिवस पर उनको सच्ची श्रृद्धांजलि तभी होगी, जब उनके सपनों का भारत बनाने के लिए हम भारत को बौद्धमय बनाने का संकल्प लेंगे, और हम लोग बहुजनों की सरकार बनाकर देश को संविधान के अनुसार चलाएं। उन्होने कहा बहुजन समाज पार्टी ही देश में एकमात्र पार्टी है, जो बाबा साहेब के संविधान को लागू करने के लिए कटिबद्ध है।
सभा को संबोधित करते हुए डॉ. श्यामलाल ने कहा बाबा साहेब ने देश को ऐसा संविधान दिया है, जिसमें सभी धर्माे को समान अधिकार और सम्मान प्राप्त है। यह संविधान मानवता पर आधारित है, जो दुनियां में माना जाने वाला बौद्ध धम्म से प्रेरणा लेकर बनाया गया। बौद्ध धम्म कोई धर्म नहीं, बल्कि सुखी और शांतिपूर्ण जीवन जीने का मार्ग है। हमें बाबा साहेब के ज्ञान और मार्ग का अनुसरण करना चाहिए। बाबा साहेब ने 1956 में बौद्ध धम्म अपनाकर हमें जीवन जीने के लिए बौद्ध धम्म के रास्ते पर चलने का संदेश दिया था। उन्होने राजनीति में जाने और जीवन में सफलता के शिखर पर पहुंचने के लिए शिक्षित बनो, संगठित रहो और संघर्ष करो जैसे तीन अनमोल मंत्र दिए, जिनकी बदौलत भारत का गरीब और मजलूम अपनी सरकार बना सकता है।
इस अवसर पर जिला अध्यक्ष मनोज चौधरी ने कहा बाबा साहेब हमारे बीच में हमेशा जीवित रहेंगे, क्योंकि उनके विचार कभी मर नहीं सकते। उन्होने सभी कार्यकर्ताओं को पार्टी में और अधिक मेहनत करने की अपील करते हुए कहा कि हमें अपने महापुरूषों के दिखाए मार्ग पर चलते हुए देश में बहुजन समाज पार्टी की सरकार बनाने का काम करना चाहिए।
इस अवसर पर युवा कार्यकर्ता आकाश गौतम, राजेश कुमार, गौरव कुमार, गौतम सागर, सत्तो देवी, सुनीति गौतम, सुनीता चांदना, अशोक कुमार, विनोद कुमार सहित सैकडों बसपा कार्यकर्ताओं ने बाबा साहेब को अपने श्रृद्धाुसुमन अर्पित किए।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles