13.6 C
New York
Sunday, October 24, 2021

Buy now

spot_img

स्वच्छ भारत अभियान की तरफ सरकारी तंत्र और स्थानीय राजनेता दें ध्यान : अनखीर गांव के लोग नारकीय जीवन जीने को मजबूर

फरीदाबाद (नेशनल प्रहरी/ संवाददाता ): हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण फरीदाबाद द्वारा शहरीकरण नीति के अंतर्गत लगभग एक करोड़ रुपए की लागत राशि से फरीदाबाद नगर निगम के वार्ड नंबर 18 के गांव अनखीर की सभी गलियों में बिछाई गई सीवरेज लाइन पिछले लगभग 22 वर्षों से आज तक चालू ही नहीं की गई है ।
सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग हरियाणा से सेवानिवृत्त जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी फरीदाबाद एवं अनखीर ग्राम निवासी तिलक बिधूड़ी सहित गांव के कई अन्य निवासियों ने बताया कि इस सीवरेज लाइन परियोजना की आधारशिला हरियाणा सरकार में तत्कालीन परिवहन मंत्री एवं मेवला महाराजपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक कृष्ण पाल गुर्जर ने 13 जून 1999 को रखी थी यह शिलान्यास पत्थर आज भी गांव के सरकारी स्कूल की चारदीवारी पर विराजमान है । सरकार ने अनखीर गांव को 1978 में पंचायती राज सिस्टम से अलग करके तत्कालीन फरीदाबाद मिश्रित प्रशासन फरीदाबाद में शामिल कर दिया था उस समय गांव की जो आबादी व घरों की संख्या थी अब वह लगभग दुगनी हो चुकी है।
उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा गांव अनखीर की काश्तकारी की जमीन का अधिग्रहण सन 1970, 1984 व 1983 में फरीदाबाद के सेक्टर 21 ए बी सी डी के लिए किया जा चुका है । सरकार की ग्राम शहरीकरण नीति के अंतर्गत किसानों के मुआवजे में से कुछ राशि काटकर ग्रामीण विकास निधि वीडीएफ के तौर पर जमा करके रख ली गई ताकि समय-समय पर इससे गांव में शहरी सेक्टरों की तर्ज पर विकास कार्य करके गांव का शहरीकरण किया जा सके।
इस निधि में से ही हुडा द्वारा गांव में यह सीवरेज लाइन बिछाई गई जो कि आज तक एक मेनहोल से दूसरे में हाल तक प्लग करके बंद की हुई है ऐसे में किसी भी घर से दूषित जल निकासी का पाइप इस में नहीं जोड़ा जा सकता है क्योंकि गंदा पानी इस लाइन में आगे बढ़ ही नहीं सकेगा और सड़कों पर ही फैलता रहेगा।
मौजूदा सरकार के स्वच्छ भारत अभियान के इस समय में भी इस गांव के लोग या तो खुले में शौच जाने को मजबूर हैं या फिर छोटे शौचालय बनाकर खुली नालियों में ही गंदा पानी बहाने को विवश हैं इस और क्षेत्र के सांसद विधायक व पार्षद, उपायुक्त एवं नगर निगम आयुक्त हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण फरीदाबाद के प्रशासक सहित सरकारी तंत्र का कोई भी अधिकारी ध्यान नहीं दे रहा है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles