7.1 C
New York
Monday, December 6, 2021

Buy now

spot_img

हरियाणा में कई अहम फैसलों पर लगी मोहर: वन टाइम सेटलमेंट स्कीम सितंबर तक, बुढ़ापा और विधवा पेंशन सहित तमाम भत्ते बढ़े

चंडीगढ़ (नेशनल प्रहरी/ अशोक कुमार ): कैबिनेट की मंगलवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई बैठक में कई अहम फैसलों पर मोहर लगी। हरियाणा लोक सेवा आयोग में राज्य सरकार ने सदस्यों की संख्या घटा दी है। हरियाणा लोक सेवा आयोग में अब एक चेयरमैन और पांच सदस्य होंगे। पहले एक चेयरमैन और आठ सदस्य होते थे। अभी सदस्यों के चार पद खाली चल रहे हैं। चार पदों पर सदस्य काम कर रहे हैं। यानी अब हरियाणा लोक सेवा आयोग में सिर्फ एक ही सदस्य की नियुक्ति होगी। इस नियुक्ति के बाद हरियाणा लोक सेवा आयोग में एक चेयरमैन और पांच सदस्यों के साथ छह लोग हो जाएंगे।
मंत्रिमंडल के फैसलों की जानकारी देते हुए शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने बताया कि कैबिनेट ने मोटर व्हीकल एक्ट में संशोधन को भी मंजूरी दे दी है। सभी तरह के चालान मौके पर ही भरने की सुविधा दी गई है। इसके अलावा सरकार की देनदारियों में वन टाइम सेटलमेंट स्कीम में दी गई छूट का समय 15 जुलाई से बढ़ाकर 30 सितंबर कर दिया गया है।
पिछले साल 10 अगस्त को छह महीने के लिए यह योजना शुरू की गई थी जिसे बाद में समय-समय पर बढ़ाया जाता रहा। इस नीति के तहत अब तक कालोनाइजरों से करीब 551 करोड़ रुपये वसूले जा चुके हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बजट भाषण में भी ईडीसी के बकाया मामलों को सुलझाने और वन टाइम सेटलमेंट स्कीम का लाभ सीएलयू में दी जाने की घोषणा की थी।
सरकारी शुल्क जमा नहीं कराने वाले डेवलपर्स के दो माह के ब्याज में छूट: हरियाणा कैबिनेट ने कोरोना की दूसरी लहर के चलते रियल एस्टेट के उन कारोबारियों को राहत प्रदान की है, जो अप्रैल और मई माह में लाइसेंस का नवीनीकरण नहीं करा सके और लाइसेंस के लिए नई बैंक गारंटी जमा नहीं करवा पाए। रियल एस्टेट के ऐसे तमाम डेवलपर्स को ब्याज में छूट प्रदान कर दी गई है। इसके साथ ही इन दो माह की अवधि में दी गई छूट का लाभ जमीनों की सीएलयू (चेंज आफ लैंड यूज) कराने वाले लोगों को भी मिलेगा।
हरियाणा में बुढ़ापा और विधवा पेंशन सहित तमाम सामाजिक भत्ते बढ़े, अप्रैल से लागू होगी वृद्धि: हरियाणा में सरकार ने बुढ़ापा और विधवा भत्‍ता सहित सभी सामाजिक पेंशन व भत्‍ते में वृद्धि कर दी है। यह वृद्धि अप्रैल माह से प्रभावी होगी। हरियाणा में पहली अप्रैल से विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत देय पेंशन, भत्ते और वित्तीय सहायता में बढ़ाेतरी के प्रस्ताव को आज कैबिनेट की बैठक में मुहर लगा दी गई।
अब राज्य में वृद्धावस्था सम्मान भत्ता, विधवा एवं निराश्रित महिला पेंशन, निशक्तजन पेंशन, लाडली सामाजिक सुरक्षा भत्ता, बौना भत्ता और किन्नर भत्ता को 2250 रुपये से बढ़ाकर 2,500 रुपये प्रति माह किया गया है। निराश्रित बच्चों को 1350 रुपये की बजाय 1600 रुपये प्रति माह और विद्यालय नहीं जाने वाले निशक्त बच्चों को 1650 के बदले 1950 रुपये प्रति माह दिए जाएंगे।
इन फैसलों पर भी लगी मोहर: हरियाणा में अब निजी वाहनों की तर्ज पर बस, ट्रक और टैंपू सहित अन्य व्यावसायिक (कामर्शियल) वाहनों का पंजीकरण भी डीलर करेंगे
महर्षि बाल्मीकि विश्विद्यालय के नाम में बाल्मीकि शब्द को हटाकर वाल्मीकि किया गया है
सरकार की देनदारियों में वन टाइम सेटलमेंट स्कीम में दी गई छूट का समय 15 जुलाई से बढ़ाकर 30 सितंबर किया गया है।
जिन लोगों ने दान के रूप में कोविड संबंधित उपकरण दिए थे, उसमें जीएसटी में अब छूट मिली है तो जीएसटी का पैसा रिफंड किया जाएगा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles