5.7 C
New York
Friday, November 26, 2021

Buy now

spot_img

हरि हर योजना शुरू : अनाथों की नाथ बनी सरकार,एक्सग्रेसिया और ईडब्ल्यूएस कोटे से मिलेगी नौकरी

चंडीगढ़ (नेशनल प्रहरी/ संवाददाता) : हरियाणा को कुपोषण और एनीमिया मुक्त करने के लिए अभियान शुरू हो गया है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर सोमवार को आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इसका आगाज करते हुए 30 माडल क्रेच और मोबाइल क्रेच की भी शुरुआत की। साथ ही महिलाओं की सुरक्षा को और पुख्ता बनाने के लिए वाट्सएप नंबर 9478913181 शुरू किया जिस पर महिलाएं आपात स्थिति में वाट्सएप कर सकती हैं।
हरियाणा निवास में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रदर्शन करने वाली 38 महिलाओं को सम्मानित करते हुए हरि हर योजना शुरू करने की घोषणा की। इसके तहत अनाथ बच्चों के अभिभावक अथवा संरक्षक की भूमिका सरकार निभाएगी। अनाथ बच्चों को 18 वर्ष की आयु तक राज्य के अनाथालयों में आश्रय दिया जाएगा और उसके बाद आगे की शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता दी जाएगी। स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद अनाथ बच्चे 25 वर्ष की उम्र तक एक्स-ग्रेसिया के आधार पर ग्रुप सी और डी की सरकारी नौकरी के लिए पात्र होंगे। स्नातक कर चुके अनाथों को आर्थिक रूप से कमजोर (ईडब्ल्यूएस) श्रेणी के तहत ग्रुप ए और बी की सरकारी नौकरियों में आरक्षण दिया जाएगा।
पैरालम्पिक और पैरा एथलेटिक्स के लिए भी खेल नीतियां समान रूप से लागू होंगी: पैरालंपिक और पैरा एथलेटिक्स के लिए भी खेल नीतियां समान रूप से लागू होंगी। मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि खेलों के लिए बनाई गई नीतियां अब पैरालंपिक और पैरा एथलेटिक्स के लिए समान रूप से लागू होंगी। इन कैटेगरी के खिलाडिय़ों को वह सब सुविधाएं मिलेंगी जो सामान्य श्रेणी के खिलाडिय़ों को मिलती हैं। पैरालंपिक खिलाड़ी दीपा मलिक द्वारा मुद््दा उठाने के बाद प्रदेश सरकार ने यह निर्णय लिया है।
मोबाइल क्रेच के माध्यम से प्रदेश में 500 मॉडल क्रेच स्थापित : कार्यक्रम के दौरान महिलाओं की सुरक्षा से जुड़े मामलों के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्री कमलेश ढांडा और शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर की मौजूदगी में 500 माडल क्रेच बनाने के लिए एमओयू के साथ ही बचपन बचाओ अभियान के लिए कैलाश सत्यार्थी के एनजीओ से समझौता किया गया। मुख्यमंत्री ने ङ्क्षलगानुपात में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले सिरसा, भिवानी और सोनीपत जिलों को क्रमश: प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार दिया। राज्य स्तरीय पोषण के तहत नूंह को प्रथम, महेंद्रगढ़ को द्वितीय और पंचकूला को तृतीय पुरस्कार दिया गया। संबंधित जिलों के उपायुक्तों ने यह पुरस्कार ग्रहण किए।
उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाएं सम्मानित: भिन्न-भिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया। लिंगानुपात में उत्कृष्ट प्रदर्शन पर सिरसा, भिवानी और सोनीपत जिलों को क्रमश: प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार दिया गया। इन पुरस्कारों के लिए पांच लाख, तीन लाख और दो लाख का पुरस्कार दिया गया। ये पुरस्कार इन जिलों के उपायुक्तों को प्रदान किया गया।
राज्य स्तरीय पोषण पुरस्कार प्रथम, द्वितीय और तृतीय क्रमश: नूंह, महेंद्रगढ़ और पंचकूला को दिया गया। पुरस्कार स्वरूप 2 लाख, एक लाख और 50 हजार रुपये की राशि दी गई। इन जिलों के उपायुक्तों ने ये पुरस्कार प्राप्त किये। खेल, सामाजिक कार्य और कर्मचारी वर्ग में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए भी 38 महिलाओं को सम्मानित किया गया।
कुमारी सुमेधा धानी और डॉ. प्रियंका सोनी को इंदिरा गांधी महिला शक्ति पुरस्कार प्रदान किया गया। श्रीमती आशा को कल्पना चावला शौर्य पुरस्कार और श्रीमती भगवती देवी यादव को लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार प्रदान किया। इसके अलावा खेलों, सामाजिक क्षेत्र, महिला सशक्तिकरण और आंगनबाड़ी वर्करों को उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया।
धापो ताई कर रहीं बेटियों को बचाने के लिए प्रेरित: झज्जर जिले में धापो ताई घर-घर जाकर बेटियों को बचाने के लिए प्रेरित कर रही हैं। उनकी मुहिम के साथ 25 महिलाएं जुड़ चुकी हैं। मुख्यमंत्री ने धापो ताई से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बात करते हुए मुहिम को पूरे प्रदेश में चलाने का आग्रह किया।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,107FansLike
0FollowersFollow
2FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles