दिल्ली में कड़ाके की ठंड के चलते सभी प्राइवेट स्कूल 15 जनवरी तक रखे जाएं बंद, एडवाइजरी जारी

0
118

नई दिल्ली (नेशनल प्रहरी/ संवाददाता) । दिल्ली में पड़ रही कड़ाके की सर्दी के मद्देनजर सरकार ने आदेश दिया है कि शिक्षा निदेशालय के तहत सभी प्राइवेट स्कूल 15 जनवरी तक बंद रहेंगे। सरकार ने आदेश में कहा है कि सर्दी को देखते हुए स्कूल 15 जनवरी तक बंद रखे जाएं। बता दें कि प्राइवेट स्कूलों में आठ जनवरी तक शीतकालीन अवकाश थे और सोमवार नौ जनवरी से स्कूल खुलने वाले थे। इस आदेश के बाद अब स्कूलों की छुट्टी सात दिन और बढ़ा दी गई हैं।
वहीं सभी सरकारी स्कूल 12 जनवरी तक बंद रखने के आदेश पहले हैं। लेकिन 9वीं और 12वीं कक्षा के बोर्ड छात्रों के लिए दो जनवरी से लेकर 14 जनवरी तक रेमेडियल क्लास का जारी हैं, ताकि बच्चों की बोर्ड परीक्षा की तैयारी न रुके। 
9 से स्कूल खोलने की तैयारी में थे स्कूल: इससे पहले राजधानी के कई प्राइवेट स्कूल सोमवार से खुलने की तैयारी में थे। इसको लेकर कई स्कूलों ने पैरंट्स को वॉट्सऐप ग्रुप और ईमेल के जरिए बच्चों को स्कूल भेजने का नोटिस भी भेज दिया था। अब शिक्षा निदेशालय ने 15 जनवरी तक की छुट्टियों का सर्कुलर सभी सरकारी स्कूलों के अलावा अब प्राइवेट स्कूलों को लेकर भी जारी कर दिया है। ऐसे में नियमों की अनदेखी करने वाले स्कूलों पर शिक्षा निदेशालय कार्रवाई कर सकता है।
दिल्ली में बढ़ी ठंड, फैसले बच्चों को राहत: दिल्ली में अचानक ठंड काफी बढ़ गई है। स्थिति यह है कि राजधानी में पारा 1.5 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। ऐसे में प्राइवेट स्कूल को बंद किए जाने संबंधी सर्कुलर से हजारों पैरंट्स को राहत मिली है। इससे पहले कई पैरंट्स का कहना था कि सुबह इतनी ज्यादा ठंड है। छोटे बच्चों के लिए अभी से स्कूल खोलना सही नहीं। कड़ाके की ठंड में कई लोग बीमार हो जा रहे हैं। ऐसे में बच्चों को ठंड से बचाकर रखना जरूरी है।
छुट्टियां बढ़ाने की मांग की गई थी: चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (सीटीआई) ने दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को पत्र लिखकर प्राइवेट स्कूलों में छुट्टियां 15 जनवरी तक बढ़ाने की मांग की थी। सीटीआई के चेयरमैन बृजेश गोयल का कहना था कि ठंड की वजह से सरकारी स्कूलों में 15 जनवरी तक छुट्टी कर दी गई है, लेकिन प्राइवेट स्कूलों में 8 जनवरी तक ही छुट्टी हैं। ऐसे में उन्होंने सरकार से मांग की थी कि प्राइवेट स्कूलों में भी 15 जनवरी तक छुट्टियां की जाएं।