‘राष्ट्रीय बालिका दिवस’ महिला प्रकोष्ठ एवं हरियाणा पुलिस के संयुक्त तत्वावधान में “बालिका रक्षा एवं सुरक्षा” कार्यशाला का आयोजन

0
113

बल्लभगढ़ (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह)। अग्रवाल महाविद्यालय बल्लभगढ़ मे ‘राष्ट्रीय बालिका दिवस’ के उपलक्ष में महिला प्रकोष्ठ एवं हरियाणा पुलिस के संयुक्त तत्वावधान में एक कार्यशाला का आयोजन 24 जनवरी को किया गया। जिसका विषय था- “बालिका रक्षा एवं सुरक्षा”। प्राचार्य डॉ. कृष्णकांत गुप्ता ने लड़कियों के लिए एक स्वस्थ और सुरक्षित वातावरण बनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि इस कार्यशाला का उद्देश्य बालिकाओं के प्रति समाज की चेतना को जगाना है ताकि उसे महत्व दिया जा सके और उसका सम्मान किया जा सके। सुश्री सुशीला फोगाट, उप-निरीक्षक, महिला पुलिस स्टेशन एनआईटी ज़ोन, ने लड़कियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सरकार के विभिन्न अधिनियमों और विनियमों का उल्लेख किया। उन्होंने पोक्सो और साईंबर कानूनों का भी विस्तार से वर्णन किया जिनका उपयोग विपरीत परिस्थितियों में किया जा सकता है। कांस्टेबल जसवंत सिंह ने छात्राओं को महिला हेल्पलाइन नंबर, दुर्गा शक्ति एप और चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर की जानकारी दी। कॉन्स्टेबल चंदर मोहन ने लड़कियों के प्रति समाज के व्यवहार को बदलने, कन्या भ्रूण हत्या को कम करने और लिंग के आधार पर भेदभाव को दूर करने के लिए जागरूकता पैदा करने का आह्वान किया। महिला प्रकोष्ठ की प्रभारी डॉ. गीता गुप्ता ने सभी अतिथियों का स्वागत किया और बताया कि कार्यशाला आयोजित करने का उद्देश्य महिला शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण के महत्व पर जागरूकता पैदा करने और एक उज्जवल भविष्य के लिए लड़कियों को सशक्त बनाना है। डॉ. रेखा सेन ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कुल 85 विद्यार्थियों ने इस कार्यशाला में भाग लिया और विभिन्न प्रश्न पूछे जिनका वक्ताओं द्वारा संतोषजनक समाधान किया गया।
महाविद्यालय प्राचार्य डॉ० कृष्णकांत गुप्ता की सदप्रेरणा से महाविद्यालय में छात्राओं के सर्वांगीण विकास हेतु एवं उनकी सुरक्षा के लिए अनेकानेक कार्यक्रम आयोजित होते रहते हैं। इसी श्रंखला में इस कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य छात्राओं को उनकी रक्षा हेतु आधारभूत उपायों एवं अधिकारों से अवगत कराना था। महिला प्रकोष्ठ संयोजक समिति डॉ० गीता गुप्ता, डॉ० रेखा सैन, डॉ० रेनू माहेश्वरी एवं मोहित हुडा सभी के प्रयासों से यह कार्यशाला सफल एवं सार्थक सिद्ध हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here