बनारस से चलकर आया स्पेशल बनारसी बाबू पान, पूरी तरह से तंबाकू फ्री और ऑर्गेनिक है सभी पान

0
86

● करीब 20 प्रकार के पान बनाते हैं बनारसी बाबू विनोद पांडे
सूरजकुंड (फरीदाबाद) (नेशनल प्रहरी/ रघुबीर सिंह)।
सूरजकुंड की सुंदर वादियों में आयोजित किए जा रहे 37वें सूरजकुंड अंतरराष्टï्रीय शिल्प मेला में बनारस का मशहूर मीठा पान अपनी अलग पहचान बनाए हुए है। मेला परिसर में अलग-अलग करीब 10 स्थानों पर स्पेशल बनारसी बाबू पान का स्टॉल लगाया गया है, जहां पर बनारस से आए शुभम और विनोद पांडे पर्यटकों को बिना कत्था, बिना चूना और बिना सुपारी का मीठा पान का स्वाद दिला रहे हैं। शुभम व विनोद कुमार अपने पिता जमना प्रसाद पांडे के पान के इस पुस्तैनी कार्य को आगे बढा रहे हैं।
बनारस से आए विनोद पांडे का कहना है कि वे विभिन्न 20 प्रकार के पान बनाते है। इन सभी पान की खास बात यह है कि यह सभी पान पूरी तरह से ऑर्गेनिक हैं और तंबाकू फ्री हैं। मुंह में डालकर चबाते ही यह पान पूरी तरह घुल जाता है। बनारस के विनोद पांडे पिछले 8 वर्षों से सूरजकुंड मेला में लोगों को अपने पान का स्वाद चखाते आ रहे हैं। उनका कहना है कि वे सूरजकुंड मेला के अलावा ऑल इंडिया पर्यटन के कार्यक्रमों में भी शामिल होते हैं और गुरूग्राम के सूरजगढ रंगमंच और विशालगढ में उनके पान का स्थाई स्टॉल स्थापित है।
कुमान सानू, राजकुमार राव, गुरु रंधावा, कनिका कपूर, एमसी स्क्रवेयर जैसे सैलेब्रिटी ने उनके पान का स्वाद चख रखा है। बनारस के रहने वाले विनोद पांडे को एक पान बनाने में करीब 3 से 4 मिनट का समय लगता है। उनके पास स्पेशल बनारसी बाबू पान में फायर पान, मीठा पान, चॉकलेट कोटिड पान, स्मोक पान, मैंगो पान, वाटर मैलन पान, घुंडी पान, चुस्की पान जैसे करीब 20 प्रकार के पान मेले में पर्यटकों की पसंद अनुसार बनाकर देते हैं।